रविवार, 14 सितंबर 2014

आईला .....! हॉट सीट पर गणपति बाप्पा ....!

Posted by with No comments


चकाचौंध भरे “ कौन बनेगा करोडपति के फ्लोर पर एकबारगी सुखकर्ता – दुःख हर्ता भगवन श्रीगणेश को देखकर कार्यक्रम के प्रस्तुतकर्ता महानायक अमिताभ बच्चन खुद भौचक थे .बुद्धि के देवता को अपने आगे पाकर उन्हें अंतर्मन से प्रणाम किया और पल भर में फैसला लेकर दर्शको की ओर मुखातिब हो गए .आम तौर पर स्पर्धा में शामिल लोगो को पसीना छूटता था पर इस बार बात कुछ अलग थी .
“ आइये आप और हम मिलकर खेलते है कौन बनेगा करोडपति …..” रौबदार खनकती आवाज़ गूंजी बिग बी की और हॉट सीट पर विराजमान हो गए भगवान .महानायक से जब रहा ना गया तब अपनी चुम्बकीय आँखों की गहराई से झांककर पूछ ही लिया “ सिद्धि विनायक ! आप तो माया मोह से परे है , इस धन राशि का क्या करेंगे ?” लम्बोदर बोले ,”मुझे आवश्यकता पैसो की सारे दुखी जनों की चैरिटी के लिए होगी .”
“तो भगवन … बीस हज़ार की राशि के लिए पहला सवाल ये रहा आपके सामने … और शुरू हो गया सवालो का सिलसिला .आखिर हॉट सीट पर भगवन थे .. यानी वी आई पी उम्मीदवार , सो सवालो की शुरुआत बीस हज़ार के पहले प्रश्न से होनी तय थी आडियेंस की तालिया … भाव विभोर दर्शको के उतावलेपन के बीच ही बिग बी बताते रहे की “ कुली “ की शूटिंग के दौरान जब वे ज़िन्दगी और मौत से जूझ रहे थे तब उन्होंने कितना याद किया था भगवन को ! खैर … सवाल होते रहे - बेरोजगारी , नैतिक मूल्यों के पतन , आबादी विस्फोट ,इंसानी दुनिया के दुखो का हल , आस्तिक - नास्तिक , पाखंड और बाबावाद , छद्म धर्म - निरपेक्षता , और भी कई सवाल . बुद्धि के देवता ने सारे सवालो के जवाब तपाक - तपाक से दिए.
( अन्तर्यामी जो ठहरे )!
चेक जमा होते गए और फिर गूंजी बिग बी की सम्मोहक आवाज़ ” आखिरी सवाल … भगवन , जो आपको दिलाएगा सप्त कोटि (सात करोड़) की राशि … हम चाहते है . यह राशि पीड़ित मानवता की सेवा में काम आए .दर्शक हर्षातिरेक से गदगद होकर श्री गणेशाय नमः और कुछ तो आरती करने के मूड में आ गए थे .एक नौजवान जोरो से जयघोष कर उठा ,” गणपति बाप्पा मोरया !”
कंप्यूटर स्क्रीन पर भगवन ! सवाल ये रहा आपके सामने - “ दुखी इंसानों का उद्धार करने सबसे सही रास्ता इन चारो में से कौन सा है - ए .नेताओ को ईमानदार बनाए बी . स्वर्ग से देवताओ को बुलाया जाए सी . इंसानों के लिए मोरल सैंस का कम्पलसरी कोर्स और डी. पार्लियामेंट के जरिये मानव समुदाय को सबक सिखाये .आपका समय शुरू होता है अब ….!
घडी की सुइयों की टिक टिक के साथ ही बिग बी सोच रहे थे “ सुनामी ,कटरीना ,भूकंप , बाढ़ ज्वालामुखी … ये सब क्या मिनी प्रलय नहीं है ?! और भी प्रलय की जरूरत है क्या ?भगवान् गणेश को सूंड खुजाते विचारमग्न देखकर बिग बी में छिपा एंकर शातिराना अंदाज़ में बोल उठा ,”आप चाहे तो लाइफ लाइन इस्तेमाल कर सकते है … फिफ्टी फिफ्टी , आडियेंस पोल . फ्लिप ऑर फोन ए फ्रेंड .
“अमिताभ मै सृष्टिकर्ता ब्रह्मा से बात करना चाहूँगा ”भगवान् श्रीगणेश ने फोन इ फ्रेंड का आप्शन इस्तेमाल करना चाहा .” ब्रह्मा जी ,कौन बनेगा करोडपति प्रोग्राम से मै अमिताभ बच्चन बोल रहा हू .ब्रह्मा जी ने तत्काल आशीर्वाद दिया “ आयुष्यमान भव”” सृष्टिकर्ता !आज हॉट सीट पर स्वयं मंगलमूर्ति विराजमान है .वे एक सवाल का जवाब जानना चाहते है आपसे .आपका सही जवाब उन्हें दिलाएगा सात करोड़ रुपये जो दुखी जनों का उद्धार करने वे चैरिटी में प्रदान करेंगे .जवाब के लिए आपको मिलेंगे सिर्फ तीस सेकण्ड .अगली आवाज होगी भगवन श्री गणेश की और आपका समय शुरू होता है अब …
भगवन से पूरा सवाल सुनकर ब्रह्मा जी ने दूरभाष पर ही विघ्नहर्ता के कान फूके “पार्वती सुत ! आप भी कहा फस गए इन इंसानो के मायाजाल में ? अच्छे भले भगवन के ग्रेड में हो ,सुहाता नहीं क्या ? भूल गए … देवताओ को जब श्राप दिया जाता है तब उन्हें मानव योनी में रहने का दंड पृथ्वी लोक पर भुगतना पड़ता है ?तत्काल ही बुद्धिदाता का माथा ठनका ,” बाप रे !!!! घोर कलियुग में इंसान की जिंदगी जीने का प्रारब्ध ! देखते नहीं मनोकामनाओ की तेज आंच से देवता भी कैसे भागे भागे फिर रहे है ? लोगो ने यही समझ रखा है कि पाप करो , फिर दान पुण्य के बहाने चढ़ावा डालकर धर्मात्मा होने का सर्टिफिकेट ले लो .
अमिताभ की कंप्यूटर स्क्रीन पर भगवन श्री गणेश का जवाब उभर चुका था जिसे देखकर वे सात करोड़ का चेक साइन करने लगे थे. .ब्रह्मा जी का गुरुमंत्र पाते ही एकाएक भगवन श्रीगणेश अंतर्धान हो गए .सर उठाकर बिग बी ने जब देखा हॉट सीट खाली थी .इसी बीच फास्टेस्ट फिंगर फर्स्ट स्पर्धा के प्रतिभागियों का फैसला भी हो चुका था .सवाल का जवाब सबसे पहले बजर बजाकर देने वाला जब उठकर आया तब बिग बी ने देखा वीणा की झंकार के साथ ही आवाज गूंजने लगती है .. नारायण … नारायण …!.
आडियेंस में बैठे बैठे अखबारनवीस ने साफ़ महसूस किया मुंबई की बाढ़ से महँगी मूर्तिया देखकर भगवन श्रीगणेश का मुख कमल आम आदमी की तरह मुरझा गया है .यहाँ तक कि उनका वाहन मूषक राज भी बेशर्मी से ड़ोंनेशन की मांग करते फलते फूलते कोचिंग सेन्टर और विद्यार्थियों पर चूहे की तरह प्रयोग किये जाने से दुखी था .बिग बी केबीसी के एपिसोड की अंतिम औपचारिकताये पूरी कर रहे थे और अखबारनवीस सोच रहा था “ अगर बुध्हिदाता से कहा जाता की सारी दुनिया का चक्कर लगा आओ जैसी की पुराण कथाओ में हम सबने पढ़ा है , क्या भगवन श्रीगणेश कम्पूटर का गोल चक्कर नहीं लगा लेते ?
खैर …सात करोड़ का चेक बिग बी ने कंपनी वालो से बात कर मंदिर ट्रस्ट को सौप दिया . दो दिन बाद ही सुर्खिया अखबारों में बनी की मंदिर के एक ट्रस्टी ने ले लिया सात करोड़ के चेक का फर्जी भुगतान .दरअसल उस मंदिर में कुछ बरस पहले आभूषणों की भी चोरी हो गयी थी और चोरो का पता भी आखिर तक नहीं लग पाया था .फर्जी भुगतान लेकर उस ट्रस्टी ने कुछ लोगो के साथ मिलकर आभूषणों का गुप्तदान मंदिर में कर दिया था .
और हाँ … भगवन श्रीगणेश जी ने जो सात करोड़ की राशी के लिए पूछे गए बिग बी के सवाल का जो जवाब दिया वह एंकर के कम्पूटर में इस तरह लाक हो गया की स्क्रीन पर लाना मुश्किल है .इसी स्थिति में अगर जवाब आपके दिमाग की कम्पूटर स्क्रीन पर कभी उभरे तो बताइयेगा जरूर …
Reactions:

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें