बुधवार, 8 जून 2011

आईला हाट सीट पर गणपति बाप्पा !

Posted by with No comments







चकाचौंध भरे " कौन बनेगा करोडपति "के फ्लोर पर एक बारगी सुखकर्ता-दुखहर्ता भगवान् श्रीगणेश को देखकर कार्यक्रम के प्रस्तुतकर्ता महानायक अमिताभ बच्चन  खुद भौचक थे.बुद्धि के देवता को उनहोंने अंतर्मन से प्रणाम किया और पल भर में फैसला लेकर दर्शकों की ओर मुखातिब हो गए.आम तौर पर स्पर्धा में शामिल लोगों को पसीना छूटता था लेकिन इस बात बात कुछ और थी.
                            " आइये आप और हम मिलकर  खेलते हैं कौन बनेगा करोडपति द्वितीय..." रौबदार खनकती आवाज गूंजी बिग बी की और  हाट सीट पर विराजमान हो गए भगवन.महानायक से जब रहा न गया तब अपनी चुम्बकीय  आँखों की गहराई से झांककर पूछ ही लिया ," सिद्धि  विनायक!आप तो माया -मोह से परे है ,इस धन -राशी का क्या करेंगे?लम्बोदर बोले,"मुझे क्या आवश्यकता  पैसों की ,सारी राशी दुखी जनों की चैरिटी के लिए होगी. 
                         " तो भगवन! बीस हजार की राशी के लिए पहला सवाल ये रहा आपके सामने.... और शुरू हो गया सवालों का सिलसिला.आखिर हाट सीट पर भगवन थे यानी वीआइपी उम्मीदवार सो सवालों की शुरुआत बीस हजार के पहले प्रश्न से ही होनी थी.आडियंस की तालियाँ  भाव विभोर दर्शकों  के उतावलेपन के बीच ही बिग बी बताते रहे kii " कुली" फिल्म की शूटिंग के दौरान जब वे जिंदगी और मौत से जूझ रहे थे उनहोंने कितना याद किया था भगवन को!खैर ...सवाल होते रहे-बेरोजगारी,नैतिक मूल्यों के पतन ,आबादी विस्फोट,इंसानी दुनिया के दुखों का हल,आस्तिक -नास्तिक,पाखण्ड और बाबा वाद,छद्म धर्म निरपेक्षता और भी कई सवाल.बुद्धि के देवता ने सारे सवालों के तपाक-तपाक जवाब दिए.( अन्तर्यामी जो ठहरे)!
                        चेक जमा होते गए और फिर गूंजी बिग बी की सम्मोहक आवाज," आखिरी सवाल... भगवन, जो आपको दिलाएगा एक  करोड़ की राशी... हम चाहते हैं की यह राशी पीड़ित मानवता की सेवा में काम आये.देशक हर्षातिरेक से गदगद होकर श्री गणेशाय नमः और कुछ तो आरती करने के मूड में आ गए थे. एक नौजवान जोर से जय घोष कर उठा," गणपति बाप्पा मोरया"
                        कम्प्यूटर स्क्रीन पर भगवन! सवाल ये रहा आपके सामने -
दुखी इंसानों का उद्धार करने सबसे सही रास्ता इन चारों में से कौन सा है ए.नेताओं को ईमानदार बनायें.बी.स्वर्ग से देवताओं को बुलाया जाये.सी.इंसानों के लिए मारल  साइंस का कम्पलसरी कोर्स. डी.प्रलय के जरिये मानव समुदाय को सबक सिखाये.आपका समय शुरू होता है अब.
                           घडी की सूइयों की टिक-टिक  के साथ ही बिग बी सोच रहे थे ," सुनामी, कैटरीना भूकंप ,बाढ़ , ज्वालामुखी .. ये सब क्या मिनी  प्रलय नहीं हैं? और  और भी प्रलय की जरूरत है क्या?भगवन श्रीगणेश को सूंड खुजाते देखकर विचारमग्न बिग बी में छिपा एंकर अंदाज में बोल उठा ,आप चाहें तो लाइफ लाइन का इस्तेमाल कर सकते हैं.फिफ्टी फिफ्टी...आडियेंस पोल...फ्लिप और फोन ए फ्रेंड.
                     " अमिताभ मैं सृष्टिकर्ता ब्रह्मा से बात करना चाहूँगा "भगवन श्रीगणेश ने फोन ए फ्रेंड का आप्शन इस्तेमाल करना चाहा ." ब्रह्मा जी!!!कौन बनेगा करोडपति से मैं अमिताभ बच्चन बोल रहा हूँ. ब्रह्मा जी ने आशीर्वाद दिया," आयुष्यमान भाव ."
                          " सृष्टिकर्ता !आज हाट सीट पर स्वतः मंगल मूर्ती विराजमान हैं .वे एक सवाल का जवाब जानना चाहते हैं आपसे .आपका सही जवाब उन्हें दिलाएगा दो करोड़ रूपये जो  दुखी जनों का उद्धार करने वे चैरिटी में प्रदान करेंगे.जवाब के लिए आपको मिलेंगे सिर्फ तीस सेकण्ड.अगली आवाज होगी भगवन श्रीगणेश की और आपका समय शुरू होता है अब-
      भगवन से पूरा सवाल सुनकर ब्रह्माजी ने दूरभाष पर ही विघ्न हरता के कान फूंके ," पार्वती सुत! आप भी कहाँ फस गए  इन इंसानों के मायाजाल में !अच्छे-भले भगवन के ग्रेड  में हो ,सुहाता नहीं क्या?भूल गए!देवताओं को जब श्राप दिया जाता है तब उन्हें मानव योनी में रहने का दंड पृथ्वी लोक पर भुगतना पड़ता है.तत्क्षण ही बुद्धि दाता का माथा ठनका-" बाप रे!!!घोर  कलियुग में   इंसान की जिंदगी जीने का प्रारब्ध!देखते नहीं मनोकामना की तेज आंच से देवता कैसे भागे-भागे फिर रहे हैं!लोगों ने यही समझ रखा है की पाप करो फिर दान-पुन्य के जरिये चढ़ावा डालकर धर्मात्मा होने का सर्टिफिकेट ले लो."
                            अमिताभ की कम्प्यूटर स्क्रीन पर भगवन श्रीगणेश का जवाब उभर चुका था.इसे देखकर वे दो करोड़ का चेक साइन करने लगे थे.ब्रह्मा जी का गुरुमंत्र पाते ही यकायक भगवान् श्रीगणेश अंतर्धान  हो गए.सर उठाकर बिग बी ने जब देखा हाट सीट खाली थी.इसी बीच फास्टेस्ट फिंगर फर्स्ट के प्रतिस्पर्धियों का भी फैसला हो चुका था.सवाल का जवाब सबसे जल्द बजर दबाकर देने वाला जब उठकर आया तब बिग बी ने देखा वीणा की झंकार के साथ ही आवाज गूंजने लगी है नारायण... नारायण....इससे पहले की दो लाख का ईनाम जीतने वाले हाट सीट के अगले प्रतिस्पर्धी  का परिचय वे कराते बजर दब गया यानी शो का समय ख़त्म.और नारायण... नारायण...की आवाज वाले प्रतिभागी दो लाख की राशी लेकर अनजान गंतव्य की और कूच कर गए.
                                      आडियंस में बैठे अखबारनवीस ने ने साफ़ महसूस किया की अपनी महंगी मूर्तियाँ देखकर भगवन श्रीगणेश का मुख कमल आम आदमी की तरह मुरझाया है.यहाँ तक की उनका वाहन मूषकराज भी बेशर्मी से डोनेशन की मांग करते फलते-फूलते कोचिंग सेंटर और  विद्यार्थियों पर चूहे की तरह प्रयोग किये जाने से दुखी था .बिग बी " केबीसी "के एपिसोड की अंतिम औपचारिकतायें पूरी कर रहे थे और अखबार नवीस सोच रहा था ," अगर बुद्धिदाता से कहा जाता अकी सारी दुनिया का चक्कर लगा आओ ,जैस की पौराणिक कथा में हम सबने सुना है ,क्या भगवन श्रीगणेश कम्प्यूटर का एक गोल चक्कर नहीं लगा लेते?
           खैर... दो करोड़ का चेक बिग बी ने कंपनी वालों से बार कर मंदिर त्रस्त को सौप दिया.दो दिन बाद ही सुर्खियाँ अखबारों में छपी.मंदिर के एक ट्रस्टी ने  लिया दो करोड़ के चेक का फर्जी भुगतान.दरअसल उस मंदिर में कुछ बरस  पहले आभूषणों की चोरी हो गयी थी .आखिर तक चोरो का पता नहीं लग पाया था.फर्जी भुगतान लेकर उस ट्रस्टी ने कुछ लोगों के साथ मिलकर आभूषणों का गुप्तदान मंदिर में कर दिया था.
                              और हाँ!भगवन श्रीगणेश ने जो दो करोड़ की राशी के लिए पूछे गए बिग बी के सवाल का जो जवाब दिया वह एंकर के कम्प्यूटर में इस तरह लाक हो गया है  की स्क्रीन पर लाना मुश्किल है.ऐसी स्थिति में अगर जवाब आपके दिमाग की कम्प्यूटर स्क्रीन पर कभी उभरे तो बताइयेगा जरूर.... शुभ रात्रि... शब्बा खैर... एंड प्लीज प्लीज प्लीज डू व्हेरी गुड केयर आफ योर सेल्फ.
                                                     अपना ख्याल रखियेगा.
                                                                    किशोर दिवसे
                                                                          मोबाइल. 09827471743
          
Reactions:

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें